चुनाव सम्बधी MANAGER P&IR से वार्ता

साथियों नमस्कार
आज LIEA के एक प्रतिनिधिमंडल द्वारा MANAGER P&IR से मिलकर कर्मचारियों की चुनाव ड्यूटी के संबंध में जानकारी हासिल करने पर ज्ञात हुआ कि, कर्मचारियों की सूची भेजते समय गंभीर बीमारी (हृदयाघात, पक्षाघात, मांसपेशियों के शिथलन आदि) से पीड़ित साथियों के संबंध में , चुनाव ड्यूटी से मुक्त रखने हेतु कोई संकेत या टिप्पणी मंडल द्वारा प्रेषित सूची में नहीं की गई, जबकि चुनाव आयोग यह स्पष्ट करता है कि सूची में यह उल्लेख कर दिया जाए, ताकि पीडि़त व्यक्ति को चुनाव कार्य से मुक्त रखा जाए l
इस संबंध में LIEA के प्रतिनिधिमंडल ने MANAGER P&IR से आपत्ति जताई, इस संबंध में प्रबंधन ने सभी संबंधित व्यक्तियों से एक प्रार्थना पत्र, बीमारी संबंधित सहायक अभिलेखों सहित मांगा है जिसे वे निर्वाचन कार्यालय को अलग से भेजेंगे
इस संबंध में सभी साथियों से निवेदन है कि एक प्रार्थना पत्र,गंभीर बीमारी संबंधित सहायक दस्तावेजों सहित, किसी माध्यम से या हमें या किसी भी अन्य माध्यमों से MANAGER P&IR कार्यालय में कल दिनांक 20/01 /2017 तक अवश्य पहुंचा दे ताकि उसे निर्वाचन कार्यालय को अग्रसारित कराया जा सके,
अधिक जानकारी के लिए निम्न नम्बरों पर संपर्क करने की कृपा करें
धन्यवाद
अज़हर जमाल सिद्दीकी
महामंत्री, लाईफ इंश्योरेंस इम्पलाईज एसोसिएशन, लखनऊ मंडल
9305236159
*
दिनेश सिंह,अध्यक्ष 9415253141,8299560415
सोमेन्द्र श्रीवास्तव
9307021711

अस्थाई कर्मचारी

प्रबंधन ने सूचित किया है कि सर्वोच्च न्यायालय आदेश दिया है उन दैनिक अस्थाई कर्मचारियों का विनियमतिकरण किया जाय जो सर्वोच्च न्यायालय में वादकारी थे।
प्रबंधन ने संकेत दिया है कि वादी जन के संदर्भ में विचार करेगा।

CGIT update

On Temporary Assistants working on continuous basis, Management informed that Supreme Court has given a clear Order for giving employment to those employees who are petitioners in the Supreme Court. Regarding CGIT case, Management said that it is not sure as to whether the Curative Petition filed would be accepted but hinted that they are ready to honour the verdict for employment without revealing details but might restrict to Petitioners.