25 जनवरी की गेट मीटिंग

आज का विरोध दिवस कुछ मायनो में अविस्मरणीय रहा।बहुत दिनों के बाद एक मुखर अध्यक्षीय अभिभाषण सुना ,काफी दिनों से हम सबने निष्क्रिय अध्यक्ष ही पलते देखा है,अच्छा लगा।दूसरी बात एक और बदलाव के हम सब गवाह बने। पता नहीं आप सबने महसूस किया या नहीं पर मेरा अभी तक का अनुभव रहा है कि संगठन में एक तरफ एक राजा , कुछ चाटुकारो,चमचो से घिरा वर्ग एक तरफ और चातक धर्म का निर्वाह करते प्राणी दूसरी तरफ रहकर खड़े रहते है और ऐसे ही हर गेट मीटिंग में भी दिखता था पर आज लाइफ में हम सब एक घेरे में,एक गोला बनाकर थे सब बराबर और हमारी 33 फीसदी बहनो की ताक़त का क्या कहूँ,सब ऐसे जुड़ाव से जुड़े है कि लग ही नहीं रहा था कि गेट मीटिंग हो रही थी,ऐसा लग रहा था कि किसी पारिवारिक उत्सव का आयोजन हो रहा हैऔर सब मिलकर किसी समस्या का निदान ढूंढ रहे है, अल्लाह बुरी नज़र से बचाये।

4 thoughts on “25 जनवरी की गेट मीटिंग

  1. Admiring the hard work you put into your site and
    in depth information you present. It’s good to come across
    a blog every once in a while that isn’t the same old rehashed information. Great read!
    I’ve saved your site and I’m adding your RSS
    feeds to my Google account.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *